Kids story in hindi morals - गरीब की नियत प्रेरणादायक कहानी

A collection of Kids story in hindi,morals, inspirational story in hindi, motivational story for childrens


Kids story in hindi- गरीब की नियत

दोस्तों  आज हम गरीब की नियत-kids story with moral in hindi सुनाने जा रहे हैं इस कहानी को सुनकर कुछ ना कुछ जरूर प्रेरणा मिलेगी। और इस कहानी को ध्यान से पढ़िएगा यह कहानी बहुत ही इंटरेस्टिंग है और ज्ञानवर्धक भी।



Kids  story in hindi-गरीब की नियत

Kids story with moral in hindi
Kids story with moral in hindi

एक गांव में एक दुकान था उस दुकान में एक छोटा सा लड़का आता है और कुछ दवाई लेकर भागने लगता है। तभी दुकान का मालिक उस लड़के को पकड़ लेता है और मारने लगता है। और बोलता है कि, अच्छा दवाई लेकर कहां भाग रहा था ऐसा कह कर और मारने लगता है।(kids story in hindi with moral)

                     सामने खड़े लोग सभी देखते रहते हैं तभी चाय बेचने वाला एक आदमी आता है। और पूछने लगता है इसको क्यों मार रहे हो। तो दुकान का मालिक बोलता है या चोर है दवाई चोरी करके भाग रहा था चाय वाला आदमी जिसका नाम गजाधर था। वह सोचता है कि आखिर यह बच्चा दवाई क्यों चोरी कर रहा है इसकी  जरूर कोई मजबूरी होगी। और बच्चे की तरफ देखता है उस बच्चे की आंखों से आंसू निकलते देख कर। गजाधर दवाई के पैसे दुकान वाले को दे देता है। फिर बच्चा दवाई लेकर गजाधर की तरफ देखते हुए दौड़ते हुए चला जाता है।
       
                  गजाधर एक मदद करने वाला व्यक्ति था वह सभी की मदद करते रहता था वह चाय बेचकर पैसा कमाता था सभी जरूरतमंदों की सेवा करता था उसका जीवन भी गरीबी से गुजर रहा था लेकिन थोड़े बहुत पैसे आते थे उसे जरूरतमंदों की सेवा करता था। देखते ही देखते गजाधर बुड्ढा हो गया और वह अपनी चाय की दुकान चला रहा था।


एक दिन वह  अचानक चक्कर खाकर गिर जाता है और बेहोश हो जाता है। तभी उसका बेटा दौड़ते हुए आता है और अपने पिता को हॉस्पिटल ले जाता है तो डॉक्टर कहते हैं - आपको अपने पिताजी का ऑपरेशन कराना पड़ेगा। जिसके लिए 5 लाख रुपयों की जरूरत होगी।(kids story in hindi)
                   
               गजाधर का बेटा सोचने लगता है कि मैं इतना पैसा कहां से लाऊंगा। थोड़े बहुत पैसे थे उसे भी पिताजी ने दान में लगा दिया। ऐसा सोचते सोचते रोते हुए वहां अपने पिताजी के पास सो जाता है।जब सुबह होता है तो उसको बेड के पास एक बिल होता है जिसमें लिखा होता है कि आपके 5 लाख रुपए जमा हो चुके हैं।
                       
   यह देखकर वह डॉक्टर के पास जाता है और कहने लगता है की यह पैसे किसने जमा किए तो डॉक्टर बोलता है मैंने किया। इतने में गजाधर का ऑपरेशन हो जाता है।

      Endinding of kids story in hindi


 कुछ दिन बाद जब गजाधर पूरी तरह से ठीक हो जा जाता है तो अपने बेटे से पूछने लगता है कि तुम्हारे पास इतने पैसे कहां से आए। तो उसका बेटा कहता है डॉक्टर साहब ने पैसे जमा किए। इतने में ही डॉक्टर आ जाते हैं। और गजाधर से कहते हैं आप मुझे जानते हो मैं वही लड़का हूं जिसकी आपने मदद की थी। उस समय मेरी मां बहुत बीमार थी और आपकी मदद के कारण मेरी मां ठीक हो गई।(kids story in hindi)


तो दोस्तों इस कहानी से हमें क्या शिक्षा मिलती है कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं ......

इसी तरह के kids story in hindi पढ़ने के लिए हमारे ब्लॉक में विजिट करते रहें धन्यवाद।


टिप्पणी पोस्ट करें